एक क्लिक में जानिए.. आखिर क्यों बढ़ते ही जा रहे हैं पेट्रोल के दाम !

सोशल मीडिया में चारों तरफ पेट्रोल की बढ़ती हुई कीमतों को लेकर लोग परेशान हैं। पेट्रोल की इन बढ़ती हुई कीमतों के बारे में लोगों की अपनी-अपनी राय है। कुछ लोग इसके लिए सीधे मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराते हैं.. जबकि दूसरी तरफ कुछ लोग उनका बचाव करते हुए नजर आ रहे हैं।

दोस्तों पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ रहे हैं जिसके कारण भारत के लोग काफी परेशान हो रहे हैं क्योंकि भारत में 1 दिन के अंदर काफी बड़ी मात्रा में पेट्रोल और डीजल की खपत होती है। लेकिन जिस तरह से रोज पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ रहे हैं जिससे लोग काफी परेशान हो रहे हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि पेट्रोल और डीजल के दाम क्यों और कैसे बढ़ रहे हैं। अगर नहीं जानते हैं तो चलिए हम आपको बताते हैं।

 

भारत में पेट्रोल और डीजल का दाम बढ़ाने/ घटाने का काम तेल की कंपनियां करती हैं जैसे कि इंडियन आयल और हिंदुस्तान पेट्रोलियम। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम जब ऊपर नीचे होते हैं तब यह कंपनियां उसी हिसाब से भारत के बाजार में कीमतों का निर्धारण करती हैं। जब अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत कम होती है तब भारत में भी पेट्रोल और डीजल के दाम कम हो जाते हैं। वहीं दूसरी और जब अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम बढ़ जाते हैं तो भारत में भी पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ जाते हैं।

 

अब हम आपको बताते हैं कि कच्चे तेल के दाम क्यों बढ़ते हैं..??

दोस्तों जैसा कि आप सब लोग जानते हैं कि अमेरिका और ईरान के बीच का रिश्ता लंबे समय से तनावपूर्ण चला आ रहा है। क्योंकि ईरान कच्चे तेल का एक बड़ा उत्पादक देश है। तो ऐसे में तनावपूर्ण अस्थिरता के चलते ईरान में कच्चे तेल की कीमतों पर प्रभाव पड़ता है। जिसके चलते हर रोज कच्चे तेल की कीमतें बढ़ती और घटती रहती है।
भारत में आयात होने वाला कच्चा तेल का एक बड़ा हिस्सा ईरान से आता है तो इसलिए कच्चे तेल के कीमतों में हुए बदलाव के परिणाम स्वरुप भारत में भी पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ जाते हैं।

LEAVE A REPLY